सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

दिल-ए-फिगार था तन्हाई के क़फ़स मैं,,,,,,,,,,,,,, dard shayari,

दिल-ए-फिगार था तन्हाई के क़फ़स मैं


दिल-ए-फिगार था तन्हाई के क़फ़स मैं
दिल-ए-फिगार था तन्हाई के क़फ़स मैं


दिल-ए-फिगार था तन्हाई के क़फ़स मैं ,तड़प उठी साँसे  दिल ना हुआ बस मैं ,


,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,


उसके लौटने की तवाकु  अब  टूटने लगी  हे,दीन बा दीन वक़्त की रेत छूटने लगी  हे,
अहाल-ए-जाहा,  ने इतनी  जफा  दी मेरे  दिल को,के धड़कने करके  बेवफाई थमने लगी  हे,
शब-ए-फिराक मेरे मन मैं  इतना  शोरिश हुया,जिस्की गूंज से  तबस्सुम भी मिटने लगी  हे,
 बे ज़क  हुई जिंदगी को नाशाद करना चाहता  हू,तन्हाई के क़फ़स मैं  ज़ीस्त  जलने लगी  हे,
तन्हाई से से  बचने को अपने दर्दो , से दोस्ती  की,तो सबा भी मुझ तक  आकर रूकने लगी  हे,
बारसो तक नज़रे ,टिकाई  उस्के इंतज़ार मैं ,अब  तो सुरख ए रुखसार  भी धाल्ने लगी  हे,

dil e figaar---udaas mun
tawakko--umeed
jafaa--------------utpidan,dard,
ahal e jahaa,n-------is duniya ke log
shurkh e rukhsaar---gaalo,n ki laali
qafas---------pinjra
be zauq-----be suwaad
zeest-----jivan
tabassum-----muskaan
shorish-----ashanti
shab e firaaq----judai ki raat
hijr-----judai




Tag
best dard shayari
2 line dard shayari
pyar ka dard shayari

dard shayari in english

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

राह ऐ मंझिल.........2 line shayari,

    कदम डगमगा गये  राह ऐ  मंझिल पर चलते चलते  कदम डगमगा गये  राह ऐ  मंझिल पर चलते चलते । साथ किया टूटा हर राह पराये लगने लगे , Tag 2 line Shayari  in English 2 line Shayari  attitude 2 line Shayari  on life 2 line Shayari  romantic

मोह्हबत की शिद्धत से-------2 line shayari

                                                   मोह्हबत की शिद्धत से पर अछि तकदीर न पायी मोह्हबत की शिद्धत से पर अछि तकदीर न पायी, तेरे  साथ कोई गैर  साथ मेरी आलम इ तन्हाई, Tag 2 line Shayari  in English 2 line Shayari  attitude 2 line Shayari  on life 2 line Shayari  romantic

मोहोब्बत क्या है कहसे कहे, जालिम ज़माने को,,--------Hindi Shayari, sad Shayari,

मोहोब्बत क्या है कहसे  कहे, जालिम ज़माने को, यह  वो जज़्बा ए जूनून है ख़ुद को आजमाने को, नारी नाज़ुक है चंचल शोख अदाए  मासूमियत भारी, समझ जाओ  ज़ामने वालो मज़ूर न करो  टूट  जाने  को, आये हो जहांन मैं तो मुहब्बत जरूर कर लेना , बन जाना किसी का  हमसफ़र उसे  मंज़िल तक पाहुंचे को, जोडिया बनाइ जाती  है आसमनो मैं रब की रजा है , इश्क़ रब ने भी किया फ़िर कियों मारते पत्थर  दीवाने को, किसी हकदार  ऐ  दिल  के लिए सारी उम्र  गुज़ार लेगा जीत पुरी शिद्दत और  इमान से निबाहुंगा उसे  अपना बनाने  को, tag- hindi shayari  collection hindi shayari  sad hindi shayari  love hindi shayari  love sad