सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

sad shayari--गर्दिश के सितारे

गर्दिश के  सितारे भी नाशाद हो गऐ  
 हमको बिच मैं छोड़ सब किनारे हो गए 
 जितने भी थे चाहने वाले मेरे 
दीवाने वो सारे तुम्हारे हो गए  
गर्दिश के  सितारे भी नाशाद हो गए 


बेगानो से किया शिकवा करे  
हमसे  जब अपने ही दूर होने लगे 
 देकर उदासी नजाने कहा खो गए 
 गर्दिश के  सितारे भी नाशाद हो गए 



हमारे दुश्मन उनके क़रीब
नींदे उड़ा कर खुद चैन से सो गए
आलम ऐ तन्हाई मैं  गए
गर्दिश के  सितारे भी नाशाद हो गए 



खुशिया तुमको मिले गम हमें  
उजाले की चाह मैं अँधेरे मिले  
बे वफ़ा सनम संगदिल न थे  
गर्दिश के  सितारे भी नाशाद हो गए 



tag 
Dard Shayari Hindi
Dard Shayari
Dard Shayari in Hindi
Dard Shayari Images
Dard Shayari with image
Dard Shayari with images
Dard  Nak Shayari
Dard Shayari for love
Dard Shayari love
Dard Shayari on love
Dard Shayari in Urdu
Dard Shayari Urdu
Dard Shayari status
Dard Shayari in Hindi for girlfriend
Dard Shayari download
Dard Shayari wallpaper
Dard Shayari with wallpaper
Dard Shayari Hindi image
Dard Shayari for GF
Dard Shayari photos download
Dard Shayari for girlfriend
Dard Shayari FB

Dard bhari Shayari 4 line

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

राह ऐ मंझिल.........2 line shayari,

कदम डगमगा गये  राह ऐ  मंझिल पर चलते चलते 


कदम डगमगा गये  राह ऐ  मंझिल पर चलते चलते ।साथ किया टूटा हर राह पराये लगने लगे ,


Tag
2 line Shayari in English 2 line Shayari attitude 2 line Shayari on life
2 line Shayari romantic

मोह्हबत की शिद्धत से-------2 line shayari

मोह्हबत की शिद्धत से पर अछि तकदीर न पायी


मोह्हबत की शिद्धत से पर अछि तकदीर न पायी,तेरे  साथ कोई गैर  साथ मेरी आलम इ तन्हाई,



Tag
2 line Shayari in English 2 line Shayari attitude 2 line Shayari on life 2 line Shayari romantic

मोहोब्बत क्या है कहसे कहे, जालिम ज़माने को,,--------Hindi Shayari, sad Shayari,

मोहोब्बत क्या है कहसे  कहे, जालिम ज़माने को,यह  वो जज़्बा ए जूनून है ख़ुद को आजमाने को,
नारी नाज़ुक है चंचल शोख अदाए  मासूमियत भारी,समझ जाओ  ज़ामने वालो मज़ूर न करो  टूट  जाने  को,
आये हो जहांन मैं तो मुहब्बत जरूर कर लेना ,बन जाना किसी का  हमसफ़र उसे  मंज़िल तक पाहुंचे को,
जोडिया बनाइ जाती  है आसमनो मैं रब की रजा है ,इश्क़ रब ने भी किया फ़िर कियों मारते पत्थर  दीवाने को,
किसी हकदार  ऐ  दिल  के लिए सारी उम्र  गुज़ार लेगा जीतपुरी शिद्दत और  इमान से निबाहुंगा उसे  अपना बनाने  को,

tag-
hindi shayari collection hindi shayari sad hindi shayari love hindi shayari love sad